Menu

 

मूंगफली की सूखी चटनी (सींगदाना का ठेसा) बनाने की सबसे आसान विधि

मूंगफली की सूखी चटनी (सींगदाना का ठेसा) बनाने की सबसे आसान विधि

सींगदाना का ठेसामूंगफली यानी सींगदाना स्वास्थ्य का खजाना है। मूंगफली या सींगदाना को अंग्रेज़ी में ग्राउंडनट या पीनट (Groundnut or Peanut) कहते है, जो सदियों से मनुष्यों का स्वस्थ आहार का हिस्सा है। इससे कई प्रकार के व्यंजन बनाए जाते हैं।

मूंगफली में तेल यानी वसा का अंश काफी ज्यादा होता है, जो ख़ास किस्म का फायदा पहुंचाते हैं। इसके कुछ दाने के नियमित सेवन से कई ऐसे फायदे होते हैं जो जिसके खाने वालों को भी पता नहीं होता है।

मूंगफली कैल्शियम, आयरन, फोलेट, नियासिन और जिंक का अच्छा स्रोत है। सर्दियों के मौसम में भुनी हुई मूंगफली के साथ गुड़ भी खाया जाता है जिससे शरीर के अंदर गर्मी बनी रहती और हड्डियां मजबूत बनती हैं।

साथ ही, इसके नियमित सेवन से कभी भी कब्ज की समस्या नहीं होती है और गैस व एसिडिटी की समस्या से भी राहत मिलती है।

मूंगफली यानी सींगदाना की सूखी चटनी एक गुजराती रेसिपी है, जिसे “ठेसा” (Thesa) कहते हैं। आप इस चटनी (ठेसा) को 6-7 दिन तक कंटेनर में बंदकर फ्रिज में रख सकते हैं और इस्तेमाल कर सकते हैं। आप चाहें तो ठेसा या मूंगफली की सूखी चटनी को लंबी यात्रा में भी ले जा सकते हैं।

तो आइए जानते हैं, मूंगफली का ठेसा यानी सींगदाना की सूखी चटनी बनाने के लिए हमें क्या-क्या आवश्यक सामग्री चाहिए।

आवश्यक सामग्री

मूंगफली - 250 ग्राम

लहसुन – 10-15 कलियां

हरी मिर्च - 7 या 8

तेल - एक चौथाई चम्मच

नमक – स्वादानुसार

बनाने की विधि

सबसे पहले एक कड़ाही को गरम करेंगे, जब गरम हो जाए तब मूंगफली को उसमें डालकर मध्यम आंच पर भूनेंगे। लगभग 10 मिनट तक चलाते रहें ताकि मूंगफली अच्छे से भुन जाए।

जब मूंगफली के छिलके भुनते समय अपने आप निकलने लगें तो गैस को बंद करके एक प्लेट में निकालकर ठंडा होने दें। फिर मूंगफली के सारे छिलके निकाल लें।

लहसुन और हरी मिर्च को हल्की आंच पर तवे पर एक चौथाई तेल डालकर भून लें। जब हल्का ब्राउन हो जाए तो उसे एक छोटे बाउल में निकालकर ठंडा कर लें।  उसके बाद मिक्सी के छोटे जार में मूंगफली, भुने हुए लहसुन और हरी मिर्च को डाल दें। उसमें स्वादानुसार नमक डालकर ब्लेंड कर लें यानी पीस लें। ज्यादा न पीसें, थोड़ा दरदरा ही रहने दें।

मूंगफली का ठेसा यानी चटनी तैयार है। अब आप इसे पूरी, पराठा या दाल-चावल के साथ खाएं।

सुझाव

मूंगफली की सूखी चटनी ज्यादा मात्रा में बनाकर रखना हो या लम्बे समय तक रखना हो तो हरी मिर्च के बदले सूखी लाल मिर्च पाउडर का इस्तेमाल करें।

सावधानियां

मूंगफली को भूनते समय तेज आंच कर के न भूनें, वरना जला हुआ टेस्ट आएगा और मूंगफली कच्ची ही रह जाएगी।

back to top

loading...

Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.